Ayurvedic Benefits of Tulsi – तुलसी के आयुर्वेदिक महत्त्व

tulsi
tulsi
Advertisement

Ayurvedic Benefits of Tulsi

Tulsi को भारत में बहुत पवित्र माना जाता है . तुलसी के प्रभाव से मनुष्य के जीवन शैली में उच्च कोटि का प्रभाव पड़ता है.

तुलसी के बारे में प्राचीन काल से आयुर्वेद के ग्रंथों में एक विभिन्न स्थान है इसके बहुत सारी उपयोग चिकित्सा सब के बारे में आयुर्वेद में डिटेल में दीया है.

तुलसी हर घर में दिखाई देती है क्योंकि इसे बहुत पवित्र माना जाता है. इसलिए इसे घर के आंगन में लगाया जाता है.

Advertisement

आयुर्वेद में बताया गया है कि तुलसी का प्रभाव आपके शरीर पर पड़ता है ,इसलिए रोज उठकर तुलसी को प्रणाम करना चाहिए इससे आपके हेल्थ पर भी बहुत प्रभाव पड़ता है.

तुलसी का प्रयोग औषधि में अभी किया जाता है, हर घर में भी इसका प्रयोग छोटी-छोटी चीजों में किया जाता है जैसे कि जुखाम सर्दी खांसी इत्यादि में तुलसी का प्रयोग किया जाता है.

तुलसी हवा को शुद्ध करती है तथा बैक्टीरिया से बचाती है.

Tulsi के फायदे के बारे में बात करते हैं :

तुलसी में एंटी फंगल एंटीबैक्टीरियल और एंटीबॉडी गुणधर्म पाए जाते हैं. जो कई बीमारियों से बचाती है.मलेरिया जैसी बीमारियों में बीमारी के प्रभाव को कम करने में सक्षम है.

यह कैंसर जैसी बीमारी दूर करती है इसमें एंटीआक्सीडेंट प्रॉपर्टी है जिसके कारण ब्रेस्ट कैंसर वह मुंह का कैंसर जैसी बीमारियां दूर रखती है. तुलसी में ग्रीन पिगमेंट है,जो कीटाणुओं का नाश करती है.

तुलसी के पत्ते को मुंह में चबाने से कैंसर की कोशिकाओं को बढ़ने नहीं देती.तुलसी के पत्ते खाने से सर दर्द मैं भी आराम मिलता है.

इसके के पत्ते चबाने से स्मरणशक्ति में भी फायदा मिलता है.

तुलसी के तेल से मालिश करनी चाहिए, इससे आपके बालों में ऊर्जा प्राप्त होगी और बालों की समस्या कम करने में सहायक औषधि है . इसका यूज करने से बाल झड़ना पकना रुखापन इत्यादि बालों की समस्या कम करती है.

तुलसी का सेवन रोजाना करने से आपको हर तरह की बीमारी से दूर रखने में मदद करती है.

अगर आपके मुंह की दुर्गंध आती है तो इसके सेवन से दुर्गंधी कुछ दिनों में ही दूर हो जाएगी और हमेशा ताजगी बनी रहेगी.

Advertisement

तुलसी कब्जों को भी दूर करता है. पाचन तंत्र सुचारू रूप से शुरू रखने में मदद करता है.

अगर आपकी आंखों में जलन की समस्या रहती है तो आपको तुलसी का अर्क यूज़ करने से आंखों की समस्या में भी फायदा मिलता है.

अगर आपको किसी भी प्रकार का स्किन इंफेक्शन हो जाए ,इस कंडीशन में तुलसी के पत्ते को मरोड़ कर उस जगह पर लगाने से यह इंफेक्शन को कम करता है.

फंगल इंफेक्शन में भी इसके इस्तेमाल से फायदा मिलता है.

Tulsi का uses कहां-कहां कर सकते हैं :

इसका का उपयोग खांसी में कर सकते हैं. एक चम्मच तुलसी का रस और एक चम्मच शहद और थोड़ी मात्रा अदरक और इसके सेवन से खांसी में अद्भुत फायदा मिलता है.

तुलसी के पत्ते मरोड़कर इन्फेक्शन हुई जगह पर लगा दिए जाएं तो उस इन्फेक्शन को जड़ से खत्म करती है ,और दाग-धब्बे को पूरी तरह से मिटा देती है.

तुलसी का तेल सर में लगाने से मस्तिष्क को ठंडक देती है.

इसके पत्ते चाय में डालकर भी पी सकते हैं इससे आपकी सेहत में भी सुधार आएगी और किसी भी तरह की बीमारियों से आप को बचाएगी.

इसके बीच को गर्म दूध में मिलाकर पीने से शारीरिक कमजोरी दूर होती है,

इसका फेस पैक बनाकर मुंह पर लगाने से दाग धब्बे और सांवलेपन को दूर करती है.

अगर आपके फेस पर मुंहासे है तो आप तुलसी का तेल चंदन पाउडर गुलाब जल और नींबू का रस मिलाकर फेस पैक बनाएं इससे आपको जल्दी आराम मिलेगा.

Dabur Shilajit Gold Benefits-strength Stamina और यौन समस्या के लिए
BP में मुक्ता वटी के फायदे – Patanjali Mukta Vati Benefits In High B.P
Patanjali Herbal Power Vita benefits-पतंजलि हर्बल पॉवरवीटा
 Medohar vati बेस्ट Weight Loss Medicine-Benefits and Uses
Badam Pak Benefits-Best Daily हेल्थ Supplement
Patanjali Makardhwaj – Strength, Stamina ,Energy Booster

Advertisement

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here